Bhairo Baba Satta Sadhna, real sadhna

Bhairo Baba Satta Sadhana ।। भैरों बाबा सट्टा साधना

 

साधकों आज हम आपको ” Bhairo Baba Satta Sadhna ” के बारे में बताने वाला हूँ ! साधना में सफलता पाने के उपाये भी बताने वाले हैं ! ताकि आपको जल्द सफलता मिल सके !

Bhairo Baba Satta Sadhna

आज के समय मे सब को पैसे की बहुत ज़रूरत होती है। पैसे के बिना हमारा जिवन संभव नही है। वैसे तो जीवन चर्या को चलाने के लिए रोटी कपड़ा मकान जरूरी होता है। किंतु ये सब चीजें बिना पैसे के संभव नही है। हमारा बिजनेस घाटे मे चला जाता है। और कर्ज़ चढ़ जाता है। जिसके चलते हम बहुत टेंशन मे रहते है। इन सब परेशानियों को‌ दूर करने के लिए। पैसे की जरूरत होती है। हम आपकी परेशानियों को कम‌ करने के लिए। कुछ उपाय बताने जा रहे है।

Bhairo Baba Satta Sadhna

मित्रों आज हम आपको भैरों बाबा सट्टा साधना बताने जा रहे है। सम्पूर्ण विधि के साथ, ताकि आपको साधना
मे सफलता मिले सकें। आप अपने कर्ज़ से मुक्त हो सकें। वह दूसरो की मदद कर सकें। मित्रों आपको‌ बात
का ध्यान रखे। अगर आप सच मे परेशान है। तो ही इस मंत्र की साधना करें। इसके अतिरिक्त किसी की मदद
करना चाहते है। यदि आप इस मंत्र की साधना जीवन के आनंद उठाने के लिए करते है। तो‌ आपकी साधना
शायद ही सफल हो। आप भैरों बाबा की साधना निस्वार्थ भाव से करें। वह श्रद्धा के साथ करें।

भैरों बाबा सट्टा साधना मंत्र ( Bhairo Baba Satta Sadhna )

ॐ काला भैरों, चिट्टा भैरों, भैरों चिट्टम-चिट्टा।
गल तेरे विच्च माला सोंहदी, माथे विच्च सोंहदा टिक्का।।
मोढ़ढे बगलीं हथ्य विच्च कड़ा। बन घड़ा। दे दड़ा। दे दड़ा।
जिहड़ा तेरा नाम सुमरे, उसदे पास आ। आ। आ। (साधक अपना नाम ले)

भैरों बाबा सट्टा साधना विधि

विधि – साधना के प्रथम दिन सरसों के तेल में ग्यारह 11 मीठे गुलगुले बनाकर , एक थाली में रखें । प्रतिदिन
उन्हीं पहले दिन ही , बनाये गये गुलगुलों को ही , थाली में रखकर पूजा करनी है । प्रतिदिन ताजे गुलगुले बनाने
की आवश्यकता नहीं है । प्रतिदिन थाली “ गुलगुलों “ सामने रख कर एक माला यानि 108 मन्त्र प्रतिदिन श्रद्धा
व ब्रह्मचर्य सहित जाप करके पूजा – स्थान पर ही , धरती पर शयन किया करें ।
हर मन्त्र के बाद साधक अपना नाम बोला करे । यह साधना पूरे 41 ( इकतालिस ) दिन की है । इतने दिनों न
तो स्त्री को छुये , न उसके हाथका बना खाना खाये । न – ही , किसी भी औरत यहां तक कि , लड़की के हाथ
का भी  पानी न पिये ।
Bhairo Baba Satta Sadhna
अपने वस्त्र – कपड़े आप धोये। यानि किसी औरत तक की परछायीं लेना भी , साधना को खंडित कर सकता है
खास तौर पर किसी भी स्त्री की छाया भी साधक पर नहीं पड़नी चाहिये । साधना के बीचं , यदि कोई अदृश्य
शक्ति आकर , कुछउपद्रव करे , शोर करे या भयभीत करे तो साधक घबराये नहीं । इन्हीं आपदाओं से बचने के
लिये साधना से पूर्व ,सुरक्षा चक्र ( घेरा ) मंत्र – सहित लगाने का निर्देश दिया जाता है ।

साधना में सुरक्षा 

मन्त्र से अपने शरीर कोछूकर ,सुरक्षित किया करें । जिस दिन भी , कोई शक्ति साधक से आकर पूछे कि,
मुझे यहां क्यों बुलाया है ? तो यह सुनिश्चित कर ले कि , सामने आने वाली शक्ति , भैरों ही है या कोई और ।
ध्यान रखें कि , वचन बद्ध तो केवल भैरों जी होंगे और कोई उपद्रव शक्ति नहीं ।
इसलिये भैरों जी से पहले तीन वचन मांगे । यदि व भैरों जी ही हुये तो , वचन देंगे ही । पहले वचन में कहें ।
भैरों जी , मैं आपको जब बुलाऊँ आपको आना पड़ेगा । दूसरे वचन में कहें कि , जहां भेजूं जाना पड़ेगा ।
तीसरे वचन में कहें कि यदि मैं , आपसे दड़े सट्टे का नम्बर आदि पूछू तो वह भी , मुझे बताना पड़ेगा । इस
प्रकार भैरों जी को वचन बद्ध करके , इकतालीस दिन तक साधना पूरी करें । फिर साधक जब चाहे दीपक
जलाकर भैरों जी को बुलाकर सट्टे का नम्बर पता कर सकते है ।
पाठकों जो ऊपर साधना की विधि बताई है। वह बहुत सख्त विधि है। यह साधना आप घर भी कर सकते है।
यदि आप विवाहित है। तो स्त्रीसे अलग आसन पर सयन करे। स्त्री को छूना नही। माता, बहन से कोई परेशानी
नही बस छुए नही। खाना खा सकते हैं। बात कर सकते है। एक बात का और ध्यान रखे साधना से पहले देह रक्षा
अवश्य करें। यदि देह रक्षा मंत्र आपको पास नही है। तो हम नीचे बता देंगें।

रक्षा मंत्र

ॐ नमः वज्र का कोठा
जिसमें पिण्ड हमारा पैठा
ईश्वर की कुंजी , ब्रह्मा का ताला
मेरे आठोंयाम का यती हनुमन्त रखवाला।

रक्षा मंत्र सिद्ध व इस्तमाल की विधि

किसी भी शुक्ल पक्ष के मंगलवार को हनुमान के मंदिर मे जाकर या फिर घर मे रहकर इस मंत्र का 108 बार
जाप करे। यानी एक माला। इसके अतिरिक्त होली, दीपावली, नवरात्रे, सूर्य व चंद्र ग्रहण मे 108 बार जाप करके
सिद्ध कर सकते है। जब इस्तेमाल करना हो तो इस मंत्र को सात बार पढ़कर लोहे के चाकू पर फूंक लगाकर
अपने चारो और घेरा बना ले। और सात बार पढ़कर अपनी छाती पर भी फूंक मार ले। ताकि पूर्ण रूप से सुरक्षा
हो सके।
Bhairo Baba Satta Sadhna

भैरों बाबा सट्टा साधना की सामग्री

1. एक लकड़ी की चौकी। चौकी नही है। तो ईंटों से भी बना सकते है।
2. काले रंग का कपड़ा और एक थाली।
3. प्रसाद। प्रसाद मे मिठाई इस्तेमाल कर सकते है। इसके इलावा बत्तासे, गुलगले ,खीर पूडा, पेडे व
लड्डू भी इस्तेमाल कर सकते है।
4. भैरव बाबा की मूर्ति व फोटो।
5. सरसो के तेल का दिपक, इसके अतिरिक्त तिल का तेल भी इस्तेमाल कर सकते है।
6.धूप, अगरबत्ती, मिट्ठा पान, लौंग का जोड़ा, फूल व फल।
7. ‌स्वयं के बैठने के लिए आसन।

साधना के नियम व परहेज

1. ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करने।
2. प्याज लहसुन का सेवन न करे।
3. मांस, मदिरा का सेवन न करे।
4. माता-पिता का आदर करे।
5. अपनी पत्नी का अपमान न करे।
6. किसी भी स्त्री को बुरी दृष्टि से न देखे।
7. गलत भाषा का इस्तमाल न करे।
8. किसी से भी लडाई झगड़ा न करे।
9. किसी से भी ईर्ष्या द्वेष न करे।
10. रोजमाता पिता के पैर स्पर्श करे।

साधना मे शीध्र सफलता के उपाय

1. साधना आरम्भ करने से पूर्व गणेश भगवान का पूजन अवश्य करें।
2. साधना आरम्भ करने से पूर्व संकल्प करें।
3. अपने पित्तर देवता का पूजन व ध्यान करें।
4. अपने कुल देवी देवताओं का पूजन व ध्यान भी अवश्य करें।
5. नगर खेड़े का भी ध्यान करें।
6. साधना करने से पहले अपनी सुरक्षा का ध्यान जरूर रखे।
7. साधना शुरु करने से पहले गुरु पूजन व गुरु मंत्र का‌ जाप‌ करें।
8. दोस्तों अगर आप कोई भी साधना करना चाहते है। बिना गुरु ज्ञान के न करें। आपके पास गुरु मंत्रा
होना बहुत जरूरी है।
9.अगर आपके पास गुरु नही तो किसी भी देवता की सिद्धि प्राप्त होनी‌ चाहिए।

Leave a Comment

error: Content is protected !!