Totke kya hote hain || टोटके में सफलता कैसे प्राप्त करे

टोटको को‌ करने की सही विधि ।।‌ Totke kya hote hain

Totke kya hote hain

आज‌ हम आपको बताने वाले है ! कि ” Totke kya hote hain “, टोटके को करने की सही विधि ? पाठकों आप हर तरह के टोटके करते है ! फिर भी आपको फायदे नही मिलता उसके पीछे कुछ कारण होते है ! जैसे कि टोटके करते है। उसे विधि अनुसार नही करते, और भी बहुत सी बाते है। जो हम आपको बताने वाले है।

 

टोटके क्या होते है। ( Totke kya hote hain )

पाठकों ! “टोटके ” एक चमत्कारी, प्रत्यक्ष सिद्ध एवं रहस्यमय विद्या है ! – “टोटके ” देवी-देवताओं व ऋषि-मुनियों द्वारा मानव कल्याण हेतु अभूतपूर्व रचित है ! जिसने इसको जितना समझा, उसने उतना ही अलौकिक शक्ति के इस सानिध्य को पहचाना और लाभान्वित हुआ ! “टोटके ” वास्तव में एक “’ प्रक्रिया विशेष ” का नाम है ! टोटके में कई बार न “मंत्र” की आवश्यकता रहती है ! न ”यंत्र” की | विशेष तिथि ! वार ! नक्षत्र,’ व्रत, होम, काल व वेला में, विशेष प्रकार की वस्तुओं में, एक विशेष प्रकार की शक्ति का संचार होता है ! और एक ”दक्ष तांत्रिक ” ही प्रकृति की इन सूक्ष्मताओं .’ को जानता है तथा वह इस प्रकार की वस्तुओं के संयोग से एक नई विद्या, एक नई शक्ति व एक नए चमत्कार की सृष्टि करता है।

मानव जीवन की विभिन्‍न आवश्यकताओं और आकांक्षाओं की पूर्ति के अनुरूप अन्य मान्त्रिक, यान्त्रिक अनुष्ठान, वैदिक अनुष्ठान काफी महंगे दुसाध्य व समय-साध्य होते हैं। जबकि ” टोटकों की क्रियाओं का प्रभाव तत्काल होता है। तथा सस्ती वस्तुओं के माध्यम से लाखों रूपयों का काम यों ही सहज रूप से हो जाता है।

lakh data peer sadhna।। लखदाता पीर चौंकी मंत्र

टोटको के रचियता

वेद पुराणों के अनुसार तंत्र-मंत्र व टोने-टोटकों के रचियता भगवान शंकर को माना जाता है। जितना भी ये तंत्र व टोटको का ज्ञान भगवान शिव से ही आया है ! भगवान शिव ने ये ज्ञान नाथ पथ के गुरु मच्छंदर नाथ व दत्तात्रेय जी को प्रदान किया था ! फिर गुरु गोरखनाथ जी को प्रदान किया था।

Totke kya hote hain

टोटको के असफलता के कारण

पाठकों टोटके असफलता के बहुत कारण हो सकते है।

1. टोटके की सामग्री मे कमी।

2. टोटके मे बताई ग ई विधि से न करना।

3. जो टोटके विशेष तिथि मे बताय जाते है। उस तिथि मे न करना।

4. टोटके जहां करने का निर्देश दिया जाय वही करने चाहिए। कोई विशेष स्थान, नदी चॊराहा आदि

5. टोटके करते समय आपको कोई देख ले। या फिर टोक दे, तो टोटके निष्फल हो‌ जाते है।

Shiv tandav stotram ।। हिन्दी अर्थ सहित

टोटको मे शीध्र सफलता के उपाय

1. टोटके करते समय टोटके मे बताई ग ई दिशा व स्थान का ध्यान रखे।

2. टोटके करते समय मौन रहे। जब तक एक भी शब्द न बोले जब तक टोटका पूरा न हो‌ जाय। टोटका पूरा होने के बाद 5 मिनट तक किसी से भी बात न करें।

3. जिस भी‌ तिथि, वार या नक्षत्र का निर्देश दिया गया हो। उसी समय टोटके करें।

4. पाठकों जो‌ भी टोटका आप‌ करने जा‌ रहे हो। उस पर पूर्ण विशवास रखे।

5. जो‌ भी टोटका आप करना चाहते है। वह जिस भी‌ देवी देवताओं से संबंधित हो। उन्ह पर पूर्ण श्रद्धा रखे।

6. टोटके करते‌ समय जो भी आपकी मनोकामना हो। उसे मन मे बोलते रहे।

7. पाठकों टोटके करने से पूर्व एक बात का ध्यान रखे। आपके इलावा और बाहर का दूसरा कुछ नही जानता हो। सिर्फ आपको या आपके परिवार के सदस्य को ही ज्ञात हो।

Leave a Comment

error: Content is protected !!