Peer Birghna sadhana, or vidhi real sadhana

Peer Birghna sadhana।। पीर बिरगहना साधना।

 

 

Peer Birghna sadhana

 

पीर‌ बिरगहना‌ साधना ( Peer birghna sadhana )

मित्रो आज हम आपको पीर बिरगहना की साधना ( Peer birghna sadhana ) बताने जा रहे है। ये साधना करने के बाद आप किसी का भी कार्य चुटकी बजाते निकाल सकते है। 

पीर बाबा की चौंकी अपके ऊपर आएगी। जिसे आप लोगो की सहायता कर सकते है। बड़े से बड़े तंत्र मंत्र को काट सकते है। किसी भी तरहा की तंत्र क्रिया आप पर असर नही करेगी क्योंकि पीर बिरगहना आपके पहुँचने से पहले ही उसको काट देगी। जय पीर बाबा।

बिरगहना पीर साधना मंत्र ( Peer birghna sadhana mantra )

बिरगहना धुंधु करे सवा सेर सवा तोला खाय , अस्सी कोस धावा करे सात सौ कुतल आगे चले सात सौ कूतल पीछे चले छप्पन से छुरी चले वावन से वीर चले जिसमें गढ़ गजनी का पीर चले औरों की धजा उखाड़ता चले अपनी धजा टेकता चले सोते को जगाता चले बैठे को उठाता चले हाथों में हथकड़ी गेरे पैरों में बेड़ी गेरे हलाल माही । दिठ करें माही पीठ करे पहलवान नवी याद करे ठः ठः ठः । ( साधक अपना नाम ले )

मित्रो बिरगहना पीर के साधना मंत्र मे बीज मंत्र का इस्तमाल किया गया है। जिसके कारण ये और भी शक्तिशाली हो गया है। इसकी साधना आपके लिए बहुत फलदायक होगी।

बिरगहना पीर साधना की विधि

पीर बिरगहना की साधना आपको 41 दिनो तक करनी होती है। आपको रोज सुबहा शाम पांच-पांच माला‌ निकालनी है। साधना आरम्भ करने से पहले अपनी रक्षा का प्रबन्ध कर ले। फिर 11 बार दरूद शरीफ पढ़े।

दरूद शरीफ

1.अस्सलाम वालेकुम रहमतुल्लाह व बरकातहू

2.अलहमदु लिल्लाहि रब्बिल आलमीन,वस्सलातु वस्सलामु अला आलिहि व असहाबिहि अजमईन

3.अल्लाहुम्म सल्ले अला मुहम्मदिवं व अला आलि महुम्मदिन कमा सल्ले त अला इब्राहीम व अला आलि इब्राहीम इन्न क हमीदुम्मजीद. अल्लाहुम बारिक अला मुहम्मदिवं व अला आलि मुहम्मदिन कमा बारक त अला इब्राहीम व अला आलि इब्राहीम इन्न क हमीदुम मजीद।

मित्रो हम‌‌ आपको तीन प्रकार के दरूद शरीफ बता रहे। जो भी आपको सही लगे। वह याद करले व पढ़े।

उसके बाद सूरह कौसर को 11 बार पढ़े।

सूरह कौसर

बिस्मिल्लाहि अर्रह्मान निर्रहीम
इन्ना अअतौना कल कौसर
फसल्लीलि रब्बिक वनहर
इन्न शानीअक हुवल अबतर

उसके बाद पीर बिरगहना की साधना आरम्भ करे। साधना पूरी होने के बाद फिर दरूद शरीफ पढ़े । और बिरगहना पीर से अपनी साधना सफल करने की दुआ मांगे।

Peer Birghna sadhana, or vidhi real sadhana

पीर बिरगहना साधना सामग्री

1.लकड़ी या ईंट की चौंकी बनाए।
2.हरे रंग का सवा मीटर या सवा दो मीटर कपड़ा।
3.लौबान धूप व अगरबत्ती
4.गोबर के कंडे, व गुलाब का सेंट
5.एक थाली व बत्तासे का प्रसाद
6.गुलाब के फूल व सरसो के तेल का दिपक

Sadhana mein siddhi kyo nhi milti, kaise mile success।। साधना मे सफलता कैसे प्राप्त करें।

सामग्री इस्तेमाल की विधि

एक‌‌ साफ सुथरा कमरा देखले। फिर एक‌ लकड़ी की चौंकी लगा लीजिए। लकड़ी नही है। तो आप ईंटों से बना‌ लीजिए। उसके ऊपर हरे रंग का कपड़ा बिछा लीजिए। और उसके ऊपर एक थाली रखले। फिर थाली मे दिपक‌ व अगरबत्ती लगा ले। और फूल बत्तासे चढ़ा दे। गोबर के कंडे को सुलगहा ले और उसके ऊपर लौबान को पाउडर बना कर डाल दे। और‌ साधना आरंभ करे। साधना आरम्भ करने से पहले सुरक्षा घेरा कर ले।

lakh data peer sadhna।। लखदाता पीर चौंकी मंत्र

सुरक्षा घेरे के लिए आयतल कुर्सी

बिस्मिल्लाहिर्रहमानिर्रहीम
अल्लाहु ला इलाहा इल्लाहु अल हय्युल कय्यूम ला तअखुजुहु सिन्नतुं वला नौम लहू मा फ़िस्सामावाती व मा फिलअर्द मन जल्लज़ीय यश्फउ इन्दहू इल्ला बीइज़्निह यअलमु मा बयना अयदिहिम वमा खल्फहूम वला युहीतुना बिशयइम्मीन इलमिहि इल्ला बीमा शाअ वसीआ कुर्शिययुहुस्समावाती वल अर्द वला यउदुहु हिफ्जुहुमा वहुवल अलियुल अज़ीम सदकल्लाहुल अज़ीम

सुरक्षा मंत्र को‌ पढ़ने के बाद लोहे के चाकू पर आयतल कुर्सी को सात पार पढ़कर फूंक मारकर अपने चारो और घेरा खिचे। और अपनी छाती पर भी फूंक मारे।

Madanan Mata Sadhana ।। मदानन माता साधना।

पीर बिरगहना की साधना के नियम

1. ब्रह्मचर्य व्रत का पालन करने।
2. प्याज लहसुन का सेवन न करे।
3. मांस, मदिरा का सेवन न करे।
4. माता-पिता का आदर करे।
5. अपनी पत्नी का अपमान न करे।
6. किसी भी स्त्री को बुरी दृष्टि से न देखे।
7. गलत भाषा का इस्तमाल न करे।
8. किसी से भी लडाई झगड़ा न करे।
9. किसी से भी ईर्ष्या द्वेष न करे।
10. रोजमाता पिता के पैर स्पर्श करे।

Bhairo Baba Satta Sadhna ।। भैरों बाबा सट्टा साधना

साधना मे शीध्र सफलता पाने के उपाय

1. साधना आरम्भ करने से पूर्व गणेश भगवान का पूजन अवश्य करें।
2. साधना आरम्भ करने से पूर्व संकल्प करें।
3. अपने पित्तर देवता का पूजन व ध्यान करें।
4. अपने कुल देवी देवताओं का पूजन व ध्यान भी अवश्य करें।
5. नगर खेड़े का भी ध्यान करें।
6. साधना करने से पहले अपनी सुरक्षा का ध्यान जरूर रखे।
7. साधना शुरु करने से पहले गुरु पूजन व गुरु मंत्र का‌ जाप‌ करें।
8. दोस्तों अगर आप कोई भी साधना करना चाहते है। बिना गुरु ज्ञान के न करें। आपके पास गुरु मंत्रा होना बहुत जरूरी है।

Leave a Comment

error: Content is protected !!